लोकमंच पत्रिका

लोकचेतना को समर्पित
नवीन जोशी की कविता- हाय! गहलोत सरकार
लोकमंच पत्रिका

गहलोत सरकार के तीन साल

काले कारनामों के हुए कमाल।

चोरों के हौसले बढ़ चुके हैं

मंदिर को भी नहीं छोड़ चुके हैं

हर पंडित, मंदिर की यही पुकार

सुरक्षित कर दो हमारा परिवार।

शिक्षक भी हैवान हुए हैं

विद्यालय भी मसान हुए हैं।

बालिकाओं की यही पुकार

ध्यान क्यों न देती सरकार

बलात्कारी बेखौफ हुए हैं

जैसे उनमें रोब कहीं है

चारों तरफ यह चीख-पुकार

ध्यान क्यों न देती सरकार

बेरोजगारों के साथ छल हुआ है

परीक्षा पहले पेपर हल हुआ है

दोषियों को सजा का फल न मिला है

बेरोजगारों की एक ही पुकार

साफ-सुथरे तरीके से भर्ती करो सरकार।

लोकमंच पत्रिका
लोकमंच पत्रिका

मंहगी बिजली, पेट्रोल, डीजल

चाहते आमजन को हर रोज एक कल

वेट कम ना करने का यह नतीजा रहा है

महंगाई की चक्की में आम आदमी पीस रहा है।

राजस्थान की भर्तियाँ भंडारा हुई है

बाहरी अभ्यर्थियों के लिए सर्दी का अंगारा हुई है

राज्य के अभ्यर्थियों की एक ही पुकार

बाहरी अभ्यर्थियों की पाबंदी हो सरकार।

नवीन कुमार जोशी, शोधार्थी, राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर
संपर्क सूत्र:-7737626466

Share On:

13,080 thoughts on “नवीन जोशी की कविता- हाय! गहलोत सरकार

  1. По ссылке https://xakerkey.ru/topic/110/ воспользуйтесь услугами высококлассного хакера, который отличается огромным опытом. Он берется даже за самые сложные проекты, включая детализацию смс, взлом страницы почты. Работает в данной сфере, начиная с 2009 года, а потому знаком со всеми нюансами. Все услуги выполняются максимально быстро, качественно и в ограниченные сроки, поэтому всецело полагайтесь на этого специалиста. Вы всегда можете написать ему на почту, чтобы уточнить определенные детали или рассказать подробности дела.

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.