लोकमंच पत्रिका

लोकचेतना को समर्पित
ऑनलाइन स्टडी और आज का परिवेश- वसीम हाशमी

परिचय

ऑनलाइन अध्ययन इन दिनों एक प्रचलन सा बन गया है, कोविड-19 के चलते लॉकडाउन-1 और 2 में कई स्कूलों ने ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया को अपनाकर इसे अधिक उपयोग में लाया है। ऑनलाइन स्टडी अपनी सुविधा और आसान संचालन की प्रक्रिया से अधिक लोकप्रिय हो रहा है। ऑनलाइन शिक्षा की प्रक्रिया में फायदें और नुकसान दोनों ही शामिल है।

ऑनलाइन अध्ययन शिक्षा का एक आधुनिक डिजिटल तरीका है, जहाँ पर शिक्षक और छात्र उपकरणों जैसे कि लैपटॉप, स्मार्टफोन, टैब या अन्य उपकरणों का उपयोग कर एक दूसरे से बातचीत करतें है। अध्ययन की यह पद्धति या प्रणाली इन दिनों काफी प्रचलित है, जबकि इस महामारी के फैलने के बाद हमें घर से बाहर न निकलने को कहा गया है। कोविड-19 महामारी को देखते हुए कई स्कूलों ने ऑनलाइन अध्ययन के तरीके को अपनाया है और इस प्रक्रिया को काफी हद तक सफल भी बनाया है।

लोकमंच पत्रिका, संपादक, डॉ अरुण कुमार
लोकमंच पत्रिका

ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली कई संचार मोड का उपयोग करके, शिक्षकों और छात्रों दोनों को विचारों और जानकारी का आदान-प्रदान करने, परियोजनाओं पर, घर के आसपास, दुनिया भर में कहीं-भी काम करने की अनुमति देती है। ई-लर्निंग दूरस्थ शिक्षा का एक रूप है, जहां शिक्षक के पास ट्यूटर की भूमिका कम होती है और उसकी शिक्षा में छात्र का योगदान सामान्य अध्ययन की स्थिति से अधिक होता है।

ऑनलाइन शिक्षा की प्रक्रिया में फायदें और नुकसान :

ऑनलाइन शिक्षा के फायदें

ऑनलाइन अध्ययन के तरीके से अध्ययन के कई फायदे हैं। यह बहुत सुविधाजनक है, इस सुविधा के उपयोग से आप अपने घर पर ही रहकर बातचीत कर सकते है। आप क्लासरूम की तरह यहाँ पर भी एक दूसरे से सवाल जबाब कर सकते है। प्राकृतिक आपदा या आपातकाल की स्थिति में ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया का महत्व और भी अधिक बढ़ जाता है। इस प्रक्रिया का सही उदाहरण हाल ही में फैली कोविड-19 महामारी है, जिसका प्रभाव सारी दुनियाँ में है और इसके प्रभाव से बचने के लिए सभी प्रयत्नशील है। इन दिनों कई स्कूल छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया को अपना रहें है। वास्तव में ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया स्कूली शिक्षा के लिए एक सुरक्षित विकल्प है।

ऑनलाइन-क्लास, लोकमंच पत्रिका
ऑनलाइन-क्लास, लोकमंच पत्रिका

ऑनलाइन शिक्षा के नुकसान

ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया में कई लाभों के अलावा कुछ नुकसान भी हमारें सामनें प्रस्तुत होते है। जिस तरह वास्तविक कक्षा में जो उत्साह का वातावरण होता है यहाँ उस वातावरण का अभाव होता है। एक जीवंत कक्षा या लाइव क्लास में जो आनंद का माहौल होता है, ऑनलाइन अध्ययन में उस माहौल की कमी होती है। यहाँ पर एक शिक्षक और छात्र एक दुसरे से केवल एक ही विषय को लेकर बातचीत और चर्चा कर सकते है।इसके अलावा इसके कारण गैजेट का ओवर एक्सपोजर से स्वास्थ के कई खतरे जैसे कि सिरदर्द, आंखों का कमजोर होना और एकाग्रता में कमी आना इत्यादि का खतरा भी बढ़ जाता है।

ऑनलाइन स्टडी छात्रों के लिए कितनी अच्छी है :

अध्ययन की यह प्रक्रिया के अपने ही फायदें है। यह काफी सुविधाजनक और अध्ययन की बहुत सस्ती प्रक्रिया है। ऑनलाइन स्टडी के लाभों में कुछ महत्वपूर्ण लाभ का विवरण नीचे किया गया है।

  • सुविधाजनक – ऑनलाइन अध्ययन की इस विधी द्वारा छात्रों के साथ-साथ शिक्षको के लिए भी काफी उपयोगी और सुविधाजनक है। दोनों ही अपने घर के बाहर बिना कदम रखें ही शिक्षा के सत्र में इस प्रक्रिया द्वारा भाग ले सकते है। उन्हें एक दूसरे से जुड़ने के लिए केवल एक अच्छे डिवाइस और इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता होती है। बस आप अपनी आवश्यकता की किताबों के साथ अपने कमरे में एक उचित स्थान पर आराम से बैठकर अपने क्लासमेट्स के साथ ऑनलाइन कक्षा में भाग ले सकते है।
  • सस्ता– ऑनलाइन अध्ययन स्कूली शिक्षा प्रणाली के कई मामलों में काफी सस्ती विधी है। सबसे पहला यह कि आपको स्कूल जाने और वापस आने में ट्रान्सपोर्ट व अन्य खर्चों की आवश्यकता नहीं पड़ती है, दूसरा यह कि स्कूल के अन्य सभी खर्चे कम हो जाते है। कभी-कभी पुस्तकें भी हमें ऑनलाइन ही उपलब्ध हो जाती है जिसकी कीमत हार्ड कापी की तुलना में काफी कम होती है। आप अपनी आवश्यकता के अनुसार इसे डाउनलोड कर सकते है, जिसमें की वास्तविक किताबों की तरह ही सामग्री उपलब्ध होती है। यहां तक आपको बस इंटरनेट कनेक्सन के पैसे ही खर्च करने होते है और कुछ नहीं।
  • सुरक्षित– इसमें कोई संदेह नहीं कि ऑनलाइन अध्ययन सुरक्षित विकल्प है, जिसमे खतरे की संभावना बहुत कम होती है। यह आपके लिए एक वरदान के रूप में है, जबकि आपका घर से बाहर निकलना आपको खतरनाक साबित हो सकता है। हम सभी कोविड-19 महामारी के बारे में अच्छी तरह से जान चुकें है, जिसने पूरे पृथ्वी को लॉकडाउन में डाल दिया है। जिसके कारण छात्र एक दूसरे के शारिरीक सम्पर्क में नहीं आते है और इसके कारण उनमे इस महामारी के फैलने की संभावना काफी कम हो जाती है। शुक्र है कि छात्र नियमीत रूप से ऑनलाइन कक्षा में भाग लें रहें है जिसके कारण पाठ्यक्रम भी नहीं पिछड़ा है।
  • लचीलापन– ऑनलाइन स्टडी पाठ्यक्रमों के दौड़ में आगे जाकर एक जबरजस्त लचीलापन ला सकता है। हमारे यहां कुछ विश्वविद्यालय आपके द्वारा चुने गये विषयों की ऑनलाइन सर्टिफिकेट प्रदान करता है। जिसका पंजिकरण से लेकर परीक्षा तक की प्रक्रिया सब कुछ ऑनलाइन के माध्यम से किया जाता है। इसके अलावा इसके समय में भी लचीलापन है। यदि आप थोड़ी देर से भी इसमें शामिल होते है तो चिन्ता की कोई बात नहीं है, इनके सत्र की कक्षाएं रिकार्ड हो जाती है जिसे आप बाद में भी इसका उपयोग कर सकते है।
  • कम पेपर का स्तेमाल– ऑनलाइन शिक्षा की प्रक्रिया का एक और लाभ यह भी है कि इसमे कागजों का उपयोग बहुत कम हो जाता है। क्लासरूम प्रणाली की अपेक्षा डिजिटल प्रणाली से अध्ययन करने में पेपर के उपयोग की मात्रा लगभग न के बराबर हो जाती है। आपको बस अपने में ये सब नोट करना होता है, जबकि आपका शिक्षक आपको बिना किसी पेपर के भी आपको पढ़ा सकता है। इसके अलावा ऑनलाइन स्टडी टेस्ट भी आयोजित किये जाते है जिसके कारण पेपर का स्तेमाल बहुत कम हो जाता है।
  • कम संकोच– क्लासरूम एनवायरमेंट की तुलना में ऑनलाइन अध्ययन में छात्र शिक्षक के बीच अधिक तालमेल देखा जा सकता है। आमतौर पर कक्षा में व्याकुलता ज्यादा मौजूद होते है जबकि ऑनलाइन कक्षा में इसकी संभावना काफी कम हो जाती है जिसके कारण छात्र शिक्षक द्वारा बतायी गयी बातों पर ज्य़ादा ध्यान केन्द्रित करने में मदद मिलती है। इसके अलावा छात्र अधिक संवेदनशील हो जाते है जिससे कि वो अपने संकोच को अपने शिक्षक के साथ बात करके उसका हल निकाल सकते है।
  • शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार– ऑनलाइन शिक्षा कंप्यूटर-आधारित अनुकूल परीक्षण प्रदान करती है और वैकल्पिक शिक्षा और विचारों को बढ़ावा देती है। यह छात्रों, शिक्षकों, माता-पिता, पूर्व छात्रों, कार्यकर्ताओं और संस्थानों और सांख्यिकीय प्रतिक्रिया द्वारा निरंतर सुधार के बीच सहयोग को प्रोत्साहित करता है। ऑनलाइन शिक्षा छात्रों, शिक्षकों, और स्कूलों और विश्वविद्यालयों को मापने और रैंक करने और छात्रों के सर्वांगीण विकास को पुरस्कृत करने के लिए एक सतत ग्रेडिंग प्रणाली प्रदान करती है
  • सुलभता में सुधार– ऑनलाइन और खुले सूचना पोर्टल किसी भी समय कहीं से भी सुलभ है। यह न केवल पुस्तकों और अन्य संसाधनों (व्याख्यान, वक्ताओं के वीडियो) को लाता है, बल्कि ग्रामीण इलाकों में शिक्षा फैलाने के लिए दूरस्थ शिक्षा पहलुओ को भी बढ़ावा देता है। यह विशेष आवश्यकताओं वाले छात्रों को ऑनलाइन पाठ्यक्रम भी प्रदान करता है। उदाहरण के लिए, उन लोगों के लिए 24 × 7 स्कूली शिक्षा, जो दिन के दौरान नियमित स्कूलों में भाग नहीं ले सकते हैं।
  • शिक्षा की लागत कम– ऑनलाइन शिक्षा ऑनलाइन समाधान के माध्यम से कम लागत पर सेवाएं प्रदान करता है। यह ऑनलाइन सिस्टम के माध्यम से “खुद को सीखें” और “सामुदायिक शिक्षा” को प्रोत्साहित करता है और कम कीमत पर सामान्य आधारभूत संरचना प्रदान करके स्वयंसेवकों को बढ़ावा देता है। यह शिक्षकों, स्कूलों और परीक्षा बोर्डों के लिए पाठ्यक्रम प्रदान करने और कम लागत पर परीक्षा आयोजित करने और मूल्यांकन करने के लिए उपकरण प्रदान करता है। यह भविष्य के खर्च पर रिटर्न और मार्गदर्शन के माप की अंतर्दृष्टि भी देता है।
  • सामाजिक अवसर– ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली किसी भी समय, कहीं भी प्रदान की जा सकती है। सामाजिक और सांस्कृतिक कारण उन्हें रोक रहे हैं, तो घर से ऑनलाइन सीखना लड़कियों को शिक्षा प्राप्त करने के लिए दरवाजे खोलता है। यह वयस्कों के लिए व्यावसायिक पाठ्यक्रम और आत्म-शिक्षण सीखने को भी बढ़ावा देता है। यह सांस्कृतिक रूप से विविध भारत को एक आम सीखने के मंच पर लाने में मदद करता है, जो सभी भाषाओं में पेश किया जाता है। प्रभावी ऑनलाइन शिक्षण वातावरण छात्रों को सोचने के उच्च स्तर की ओर अग्रसर करते हैं, सक्रिय छात्र भागीदारी को बढ़ावा देते हैं, व्यक्तिगत मतभेदों को समायोजित करते हैं और शिक्षार्थियों को प्रेरित करते हैं।
  • प्रशिक्षकों के लिए अवसर– ऑनलाइन शिक्षा के माध्यम से, शिक्षकों से अधिक छात्रों की भागीदारी होगी। वे तकनीक का उपयोग कर नई शिक्षण तकनीकों के साथ प्रयोग कर सकते हैं, जो उनके ऑनलाइन पाठ्यक्रमों और आमने-सामने पाठ्यक्रमों के लिए काम करेंगे। यह उन छात्रों तक पहुंचने में सक्षम बनाता है, जो अन्यथा अपने पाठ्यक्रम नहीं ले सकते हैं। ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में छात्रों की विविधता ऑनलाइन शिक्षण के सबसे पुरस्कृत पहलुओं में से एक हो सकती है। ऑनलाइन शिक्षण लचीला और सुविधाजनक है। कोई भी कहीं भी पढ़ सकता है, जहां आप इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं। अधिकांश ऑनलाइन प्रशिक्षकों का मानना ​​है कि वे कक्षा में जो कुछ करते हैं, उसके बारे में जागरूकता के कारण वे सामान्य रूप से बेहतर शिक्षक बन जाते हैं। छात्रों के साथ विभिन्न प्रकार के संचार के अवसर हैं।
  • छात्रों के लिए अवसर– यह उन्हें सीखने पर नियंत्रण देता है और प्रशिक्षक और अन्य छात्रों के साथ बढ़ती बातचीत प्रदान करता है। ऑनलाइन शिक्षा सुविधाजनक और लचीली है, विशेष रूप से गैर-पारंपरिक छात्रों के लिए नौकरियों, परिवारों आदि के लिए। छात्रों को कहीं भी ड्राइव नहीं करना, पार्किंग ढूंढना, प्रशिक्षकों के कार्यालयों के बाहर इंतजार करना, परिसर में परीक्षण करना आदि जाना है और यात्रा की कमी समय और पैसा बचाती है । यह उन छात्रों के लिए एक सुरक्षित वातावरण भी प्रदान करता है, जो आम तौर पर शामिल होने के लिए भाग नहीं लेते हैं।

कैसे ऑनलाइन स्टडी छात्रों के लिए अच्छा नहीं है :

ऑनलाइन अध्ययन के कई फायदों के बावजूद इसके ढ़ेरों नुकसान भी है।

  • खुद पर नियंत्रण– एक ऑनलाइन अध्ययन की सफलता आपके खुद के आचण पर निर्भर करता है, चाहे वह किसी भी क्षेत्र में हो। किसी भी ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया सफल हुई या नहीं यह बात केवल आपके सीखने की उत्सुकता पर ही निर्भर करती है, हो सकता है कि आपका अध्यापक आपको न देंख सकें, यह आपकी स्वतंत्रता पर निर्भर करता है कि आप सीखने के कितने इच्छुक है। आप खुद के मन को कैसे नियंत्रित कर उस कक्षा से कितना सीखते है यह आप र निर्भर करता है।
  • ईमानदारी पर निर्भर– यह ऑनलाइन अध्ययन की एक महत्वपूर्ण कमियों में से एक है। ऑनलाइन कक्षा में रहते हुए आपका ध्यान हमेशा के लिए उपर होनी चाहिए, उसके लिए आप कक्षा में स्वतंत्र नहीं है। आप ऑनलाइन कक्षा के प्रति कितने इमानदार है यह आपकी उपस्थिति पर निर्भर करता है। ऐसी कक्षा में सभी छात्र पर ध्यान देना शिक्षक के लिए संभव नहीं है।
  • केवल कोर्स सम्बन्धित बातें– अक्सर एक ऑनलाइन कक्षा में विषय के उस बिन्दु पर चर्चा की जाती है जिस विषय में चर्चा की जानी होती है। आमतौर की कक्षाओं में शिक्षक जहां अपनी निजी तथ्य और जोक्स भी शामिल करता है, ऑनलाइन कक्षा में इसकी कमी रहती है। कक्षा में जहां शिक्षक कई अन्य बातों के बारे में भी बात कर सकता है वही वह ऑनलाइन कक्षा में केवल विषय से सम्बन्धित बाते ही बताता है।
  • ओवर एक्सपोजर टू स्क्रीन– ऑनलाइन अध्ययन में कक्षाओं के संचालन के लिए इलेक्ट्रानिक स्क्रीन गैजेट्स की आवश्यकता होती है। छात्रों को लम्बे समय तक, कभी-कभी 2 से 3 घंटे तक लगातार स्क्रीन पर देखना पड़ता है। इस तरह लम्बे समय तक स्क्रीन के ऊपर देखने के कारण हमारे स्वास्थ के प्रतिरोधक क्षमता पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसके कारण कुछ छात्रों में सिरदर्द और आंखों की समस्या देखने को मिलती है।
  • सीमित बातचीत– हाँलाकि शिक्षक और छात्रों के बीच ऑनलाइन कक्षा में बातचीत की कोई सीमा तय नहीं की गई है, फिर भी यहाँ एक सीमीत मात्रा में बात की जाती है। एक शिक्षक को सभी छात्रों के प्रश्नों के उत्तर देने पड़ते है इस कारण शिक्षक छात्रों को बस कुछ मिनट ही दे पाता है, इसके लिए वह बाध्य होता है।

निष्कर्ष

ऑनलाइन अध्ययन का माध्यम शिक्षा और तकनिक का एक संलयन है। यह हमें सीखाती है कि नयी तकनीक के माध्यम से हम कैसे शिक्षा प्रणाली का लाभ उठा सकते है और हम इसमें विकास और सुधार के लिए और अधिक प्रयास कर सकते है। शिक्षा के क्षेत्र में यह प्रणाली एक क्रांति लाने की दिशा में हर दिन नये कदम की ओर अग्रसर है जो कि पहले कभी नहीं हुआ। ऑनलाइन अध्ययन का तरीका कुछ मामलों में पूर्ण नहीं है। यह तो निश्चित है कि इसके अपने कई नुकसान है, पर कुछ महत्वपूर्ण परिस्थितियों में यह हमारे बहुत फायदेमंद साबित हुआ है। जैसे कि कोविड-19 महामारी में लॉकडाउन होने के उपरान्त यह कई स्कूल और बहुत सारें छात्रों के लिए एक आशीर्वाद के रूप उन्हे मिला है। स्वास्थ सम्बन्धित इतने नुकसान के बाद भी इस अध्ययन प्रक्रिया का उपयोग विशिष्ट परिस्थितियों में बहुत ही फायदेमंद साबित हुआ है। जब कि आपका घर छोड़ना आपकी सुविधा और स्वास्थ के लिए हानिकारक है तो उस स्थिति में ऑनलाइन अध्ययन की प्रक्रिया आपके लिए एक वरदान साबित हो जाता है। कोविड-19 के प्रभाव स्वरूप गांधीजी की नई तालीम द्वारा आज लोगों को आत्मनिर्भर बनाने की आवश्यकता है। जिससे देश के प्रत्येक नागरिक को स्वरोजगार मिल सके।

लेखक- डॉ वसीम हाशमी ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय , नई दिल्ली से पीएचडी की है।

सन्दर्भ ग्रन्थ सूची

  1. Govt. of India (2012). National Policy on ICTs in School Education, MHRD, Govt. of India
    1. Critical Understanding Of ICT, Dr Pawan Kumar, Foundation Publishing House, New Delhi
    1. शिक्षा में सूचना एवं सम्प्रेषण तकनिकी, कुलदीप सारस्वत, अंजना प्रकाशन मंदिर, आगरा
    1. योजना, प्रकाशन विभाग, नई दिल्ली
    1. शैक्षिक तकनिकी एवं सूचना सम्प्रेषण तकनिकी, जे. सी. अग्रवाल एस. पी. कुल्श्रेष्ढ, अग्रवाल पब्लिकेशन, आगरा
    1. शैक्षिक तकनिकी एवं सूचना संचार प्रौद्योगिकी, राखी प्रकाशन आगरा

9,546 thoughts on “ऑनलाइन स्टडी और आज का परिवेश- वसीम हाशमी

  1. Thanks , I’ve recently been searching for information approximately this subject for a while and yours is the greatest I have discovered till now. However, what about the bottom line? Are you positive about the supply?

  2. Dude.. I am not much into reading, but somehow I got to read lots of articles on your blog. Its amazing how interesting it is for me to visit you very often. –

  3. I like to spend my free time by scaning various internet recourses. Today I came across your site and I found it is as one of the best free resources available! Well done! Keep on this quality!

  4. I was suggested this blog by my cousin. I’m not sure whether this post is written by him as no one else know such detailedabout my difficulty. You’re incredible! Thanks!

  5. When someone writes an piece of writing he/she maintains the plan of a user in his/her mind that how a user can understand it.Thus that’s why this article is outstdanding. Thanks!

  6. Pretty section of content. I just stumbled upon your blog and in accession capital to claim that I get in fact enjoyed account your blog posts. Any way I will be subscribing in your feeds or even I success you get admission to consistently fast.

  7. Thanks , I’ve just been searching for info about this topic for a long time and yours is thegreatest I’ve found out till now. But, what about the bottom line?Are you sure concerning the source?

  8. Nice read, I just passed this onto a colleague who was doing some research on that. And he just bought me lunch as I found it for him smile Therefore let me rephrase that: Thank you for lunch!

  9. Its like you read my mind! You seem to know a lot about this, like you wrote the book in it or something. I think that you can do with some pics to drive the message home a bit, but other than that, this is wonderful blog. A great read. I’ll certainly be back.