लोकमंच पत्रिका

लोकचेतना को समर्पित
आंकड़े बताते हैं कि लालू यादव सभी पिछड़ों के नेता नहीं हैं- अरुण कुमार

लालू प्रसाद यादव के बारे में कहा जाता है कि वे सभी अन्य पिछड़े वर्गों के नेता हैं लेकिन जब आंकड़ों की बात करें तो यह बात गलत साबित होती है। 2004 में बनी मनमोहन सिंह की सरकार में लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल भी शामिल हुई थी। मनमोहन सिंह कैबिनेट में उसे कैबिनेट, स्वतंत्र प्रभार और राज्यमंत्री के कई पोर्टफोलियो मिले थे। लालू यादव ने मंत्री बनाने में पिछड़े वर्गों को प्रतिनिधित्व देना उचित नहीं समझा। सूची देखें

कैबिनेट मंत्री

लालू प्रसाद- रेल, यादव

रघुवंश प्रसाद सिंह- ग्रामीण विकास, राजपूत

राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार )

प्रेमचंद गुप्ता- कम्पनी, उड्डयन, वैश्य

राज्यमंत्री

तस्लीमुद्दीन- भारी उद्योग एवं सार्वजनिक उपक्रम, मुसलमान

एमएए फातमी- मानव संसाधन विकास, मुसलमान

कांति सिंह- मानव संसाधन विकास, यादव

अखिलेश सिंह- कृषि, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता मामले एवं सार्वजनिक वितरण, भूमिहार

जयप्रकाश नारायण यादव- जल संसाधन, यादव

रघुनाथ झा- भारी उद्योग एवं लोक उद्यम, ब्राह्मण

कुल – 09 , तीन यादव, दो मुसलमान, एक वैश्य, एक राजपूत, एक ब्राह्मण, एक भूमिहार, गैर-यादव ओबीसी, और दलित से कोई नहीं।

लेखक- डॉ अरुण कुमार, संपादक, लोकमंच पत्रिका

lokmanch.in

2,895 thoughts on “आंकड़े बताते हैं कि लालू यादव सभी पिछड़ों के नेता नहीं हैं- अरुण कुमार

  1. Aw, this was an exceptionally nice post. Finding the time and actual effort to create a top notch article… but what can I say… I put things off a lot and never manage to get anything done.

  2. Asking questions are actually fastidious thing if you are not understanding something entirely, but this article provides good understanding even. Roxana Alick Heidi

  3. When I originally commented I clicked the “Notify me when new comments are added” checkbox and now each time a comment is added I get three e-mails with the same comment. Is there any way you can remove people from that service? Bless you!